सुरेश रैना : रैना अभी है ना।

Share If you like
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

धोनी के क्रिकेट से अलविदा कहने के कुछ देर बाद सुरेश रैना ने सोशल मीडिया पे एलान किया कि वह भी धोनी की इस यात्रा में शामिल होंगे। अभी हाल में आकाश चोपड़ा के शो #Akashwani में उन्होंने कहा था कि अभी उनमे काफी क्रिकेट बचा है जब तक वे बेहतरीन फील्डर है खेलते रहेंगे। उनका ये फैसला काफी चौकाने वाला था। लेकिन फैसला उनका है। हालांकि वह आईपीएल खेलते रहेंगे।

सुरेश रैना भारतीय क्रिकेट टीम के शानदार फील्डरो में से एक थे। उनके नाम एक अनोखा रिकॉर्ड है उन्होंने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सबसे पहले भारत की ओर से क्रिकेट के सभी फॉर्मेट में शतक लगाया है। तो चलिए क्रिकेट में उनके शानदार सफ़र को जानते हैं :

27 नवंबर 1986 उत्तरप्रदेश के मुरादनगर में जन्मे सुरेश रैना ने मात्र 19 साल की उम्र में 30 जुलाई 2005 को श्रीलंका के खिलाफ अपना डेब्यू किया। हालाँकि, उनका टेस्ट डेब्यू लगभग पांच साल बाद, जुलाई 2010 मे श्रीलंका के खिलाफ हुआ। उन्होंने अपने पहले ही टेस्ट करियर का पहला शतक लगाया। वह 2011 के विश्व कप जीतने वाले भारतीय दस्ते का हिस्सा थे।

रैना आक्रामक बाएं हाथ के मध्य क्रम के बल्लेबाज और एक ऑफ-स्पिन गेंदबाज थे, उन्हें विश्व क्रिकेट में सर्वश्रेष्ठ क्षेत्ररक्षकों में से एक माना जाता है। वह सभी प्रकार के घरेलू क्रिकेट में उत्तर प्रदेश के लिए खेलते थे चाहे वह रणजी ट्रॉफी हो देवधर ट्रॉफी हो या सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी।

रैना को मिस्टर आईपीएल भी कहा जाता है। आईपीएल में सबसे ज्यादा मुकाबले सुरेश रैना ने ही खेले है।

इंडियन प्रीमियर लीग यानी आईपीएल में गुजरात लायंस के कप्तान थे, और चेन्नई सुपर किंग्स के उप-कप्तान है। उन्होंने भारतीय क्रिकेट टीम की कप्तानी भी की है और भारत की कप्तानी करने वाले वह अब तक के दूसरे सबसे युवा खिलाड़ी हैं।

क्रिकेटिंग कैरियर की बात करे तो 18 टेस्ट में रैना ने 26.48 की औसत से 768 रन बनाए थे जिसमें 1 शतक और 7 अर्धशतक शामिल हैं, 226 वनडे मैच में 35.31 की औसत 5 शतक और 36 अर्धशतकों की मदद से 5615 रन बनाए वही टी ट्वेंटी के 78 मैचों में 1605 रन बनाए जिसमे 1 शतक व 5 अर्धशतक शामिल हैं।

रैना के व्यक्तिगत जीवन के बात करे तो परिवार में मातापिता के अलावा उनके तीन बड़े भाई दिनेश रैना, नरेश रैना और मुकेश रैना और एक बड़ी बहन रेणु हैं।

रैना ने 3 अप्रैल 2015 को प्रियंका से शादी की थी। उनकी एक बेटी (ग्रेसिया) और एक बेटा (रियो) है।

#सुरेश रैना की अंतरराष्ट्रीय उपलब्धियां :

वह दुनिया के तीसरे बल्लेबाज हैं और भारत के पहले ऐसे बल्लेबाज हैं जिन्होंने T20I में शतक लगाया है।

रैना T20I में शतक लगाने वाले पहले बल्लेबाज़ थे,जो नंबर 3 की पोज़िशन पर बैटिंग करता हो। उन्होंने 2010 के ICC वर्ल्ड T20 में इसे किया था।

वह क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में शतक बनाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज हैं।

वह पदार्पण पर टेस्ट शतक बनाने वाले बारहवें भारतीय खिलाड़ी थे।

वह T20I और ODI विश्व कप दोनों में शतक बनाने वाले एकमात्र भारतीय हैं।

वह ट्वेंटी -20 करियर में 6000 और 8000 रन बनाने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी हैं।

#सुरेश रैना की घरेलू उपलब्धियां :

वह आईपीएल में पहले ऐसे खिलाड़ी थे जिन्होंने 5 हजार से ज्यादा रन बनाए।

उनके नाम आईपीएल में सबसे ज्यादा कैच (95) लेने का रिकॉर्ड है।

वह क्रिस गेल के बाद पहले भारतीय थे जिसने आईपीएल में 100 छक्के मारे थे

वह पहले और अकेले ऐसे खिलाड़ी थे जिस ने आईपीएल के लगातार 7 सीजन में 400 या उससे ज्यादा रन बनाए। उन्होंने यह कारनामा 2008 से 2014 के बीच किया।

वह पहले और अकेले ऐसे भारतीय खिलाड़ी हैं जिन्होंने आईपीएल, चैंपियंस लीग T20 और T20 में शतक जमाया है।

वह अकेले ऐसे खिलाड़ी हैं जिस ने चैंपियंस लीग में सबसे ज्यादा (842) रन बनाए हैं।

और आज़ादी के 74 वे सालगिरह पर रैना ने खुद को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से स्वंत्र कर लिया। एक्सप्रेस इंडिया न्यूज उनके सुखद एंवम मंगलमय जीवन की कामना करती है। धन्यवाद।

Mohit

मोहित वर्तमान समय में दिल्ली स्कूल ऑफ जर्नलिज्म से पत्रकारिता की पढ़ाई कर रहे हैं। साथ ही एक्सप्रेस इंडिया न्यूज में खेल संवाददाता के रूप में कार्यरत हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *