Sonu Sood लिखेंगे किताब, सुनाएंगे प्रवासी श्रमिकों(Migrant Workers) के साथ के अनुभव एवं कहानियां

Share If you like
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कोरोना संकट के इस समय में बॉलीवुड में विलेन का किरदार निभाने वाले सोनू सूद असल जिंदगी के हीरो बनकर सामने आए। वे इस मुश्किल हालात में लगातार प्रवासी श्रमिकों तथा जरूरतमंदों की मदद करते रहे।

उन्होंने लगातार मुंबई और महाराष्ट्र में फंसे मजदूरों को उनके घर भेजने से लेकर देश भर के अनेकों राज्यों में फंसे हज़ारों लोगों की मदद की और वे ये काम अभी कर रहे हैं। इसके लिए उन्होंने स्पेशल ट्रेनें चलवाईं,साथ ही कई लोगों को विशेष फ्लाइट से भी भेजा। अब वह इन कोरोना काल के अनुभवों को एक किताब में समेटना चाह रहे हैं। इस बात की जानकारी सोनू सूद ने खुद दी।

मेरा दिल खुशियों से भर जाता था-सोनू सूद

सोनू सूद ने इस मामले में न्यूज़ एजेंसी आईएएनएस से बात करते हुए कहा,’पिछले करीब साढ़े तीन महीने एक तरीके से मेरे लिए जीवन के बदलने वाले अनुभव रहे। माइग्रेंट्स के साथ 16 से 18 घंटे रहना और उनके दर्द को बंटना। मैं जब उनको उनके घर के लिए अलविदा कहने जाता था, तब मेरा दिल खुशियों से भर जाता था। उनके चेहरे पर मुस्कान, उनकी आखों में खुशी के आसूं, मेरे लाइफ के सबसे स्पेशल अनुभव रहे। मैं वादा करता हूं कि मैं तब तक काम करता रहूंगा, जब तक आखिरी माइग्रेंट्स अपने घर और प्रियजनों के पास नहीं पहुंच जाता।’

भगवान का शुक्रिया,मुझे श्रमिकों की मदद का जरिया बनाया

सोनू सूद ने कहा है, ‘मैं भगवान का शुक्रिया अदा करता हूं कि उन्होंने मुझे श्रमिकों की मदद का जरिया बनाया। भले ही मेरा दिल मुंबई में धड़कता हो लेकिन इस घटना के बाद मैं महसूस करता हूं कि मेरे अंदर का एक हिस्सा उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, असम, उत्तराखंड और अन्य कई राज्यों में जीता है जहां मेरे नए दोस्त बने हैं और मेरा गहरा संबंध बना है।’

उन्होंने कहा, ‘मैंने फैसला लिया है कि हमेशा के लिए मेरी आत्मा में बस चुकी कहानियों और अनुभवों को मैं किताब में दर्ज करूंगा…मैं उत्साहित हूं और किताब के जरिए आपसे जुड़ने के लिए बेचैन हूं। मैं आपका समर्थन चाहता हूं, सभी को प्यार।’

किताब का नाम तय नहीं

पब्लिकेशन पेंग्विन रेंडम हाउस इंडिया ने बुधवार को बताया कि यह किताब इस साल के अंत तक प्रकाशित होगी। वैसे अभी इस किताब का नाम तय नहीं हुआ है। इस किताब में लोगों की मदद करने और लोगों की इस यात्रा के भावनात्मक पहलुओं के साथ-साथ चुनौतीपूर्ण क्षणों का भी जिक्र होगा। 

 

 

Rishabh Awasthi - Official

ऋषभ अवस्थी वर्तमान समय में दिल्ली स्कूल ऑफ जर्नलिज्म से पत्रकारिता की पढ़ाई कर रहे हैं। साथ ही एक्सप्रेस इंडिया न्यूज में संवाददाता के रूप में कार्यरत हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *