एक और सितारा चला गया – सुशांत सिंह राजपूत

Share If you like
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

14 जून 2020 की दोपहर बॉलीवुड के लिए एक और सदमा लेकर आई। बिहार की गलियों से निकलकर मुंबई में बॉलीवुड तक का सफर तय करने वाले जिंदादिल कलाकार सुशांत सिंह राजपूत ने अपने घर में हरे रंग के कपड़े से फाँसी लगाकर आत्महत्या कर ली। बताया जा रहा है कि वह 6 महीने से डिप्रेशन में थे। उनकी पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी फाँसी लगाने के कारण दम घुटने को मौत की वजह बताया गया है। साल 2020 में पहले ऋषि कपूर, इरफान खान फिर वाजिद खान और अब सुशांत सिंह राजपूत का यूं चले जाने से बॉलीवुड का आसमान सूना सा लगने लगा है।

सुशांत सिंह राजपूत ऐसे अभिनेताओं में गिने जाते है, जिन्होंने साधारण परिवार से होते हुए भी काफी कम समय में नाम कमाया। बॉलीवुड में अपनी अलग पहचान बनाई और सफलता के ऊंचे-ऊंचे मुक़ाम हासिल किए। उनका फिल्मी करियर बहुत रोचक रहा। उन्होंने बैकग्राउंड डांसर से शुरुआत की और मुख्य अभिनेता तक का किरदार निभाया। छोटे पर्दे के साथ-साथ बड़े पर्दे पर भी अपनी अदाकारी का जलवा बिखेरा और बेशुमार सफलता प्राप्त की।

सुशांत का बचपन

सुशांत सिंह राजपूत का जन्म 21 जनवरी 1986 को पटना शहर में हुआ। उनके पिताजी के के सिंह सरकारी अफसर थे।

उनका परिवार सन् 2000 के शुरूआती समय में दिल्ली में आ गया। सुशांत की 4 बहनें भी हैं जिसमें से एक मीतू सिंह राज्य स्तर की क्रिकेट खिलाड़ी हैं। उनकी माँ का 2002 में स्वर्गवास हो गया था। सुशांत सिंह राजपूत ने पटना के करेंस हाई स्कूल में पढाई की और आगे की पढाई दिल्ली के कुलाची हंसराज मॉडल स्कूल में की।
सुशांत सिंह राजपूत एक होनहार विद्यार्थि थे। 2003 में, उन्होंने दिल्ली कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग की प्रवेश परीक्षा में सातवां रैंक प्राप्त किया और बी.ई. मैकेनिकल इंजीनियरिंग में दाखिला लिया। सुशांत फिजिक्स में नेशनल ओलंपियाड विजेता भी थे। उन्होंने दिल्ली में दिल्ली कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग से मैकेनिकल इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की। आज के समय में इस कॉलेज को दिल्ली टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी के नाम से जाना जाता है।

सुशांत सिंह का एक्टिंग की ओर बढ़ते कदम

अभी तक सुशांत सिंह कॉलेज में पढ़ाई कर रहें थे। कॉलेज में पढ़ाई के दौरान सुशांत को डांस करना बहुत पसंद था। दिल्ली टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी में पढ़ते हुए उन्होंने शियामक दावर के डांस क्लास में दाखिला लिया। डांस क्लास ज्वाइन करने के बाद ही उनके दिमाग में एक्टिंग का ख्याल आया। सुशांत जिस क्लास में डांस सिख रहे थे वहां के कुछ छात्र *बारी जॉन* के ड्रामा क्लास में जाते थे। उन छात्रों का प्रभाव सुशांत सिंह पर भी पड़ा और उन्होंने भी *बारी जॉन* एक्टिंग क्लास में जाना शुरू कर दिया। वहां पर सुशांत ने अपने अंदर छुपे कलाकार को पहचान। उन्हें एक्टिंग करना पसंद भी आ रहा था। सुशांत ने अपना सारा ध्यान डांस सीखने में लगाया। जल्द ही उनको कड़ी मेहनत का फल मिला और उन्हें दावर के अच्छे डांस ग्रुप में शामिल किया गया।

बैकग्राउंड डांसर से करियर की शुरुआत

2005 में 51वें फिल्मफेयर पुरस्कार समारोह में सुशांत बैकग्राउंड डांसर्स के ग्रुप में शामिल थे। 2006 के कॉमनवेल्थ गेम्स का आयोजन ऑस्ट्रेलिया में किया गया था। उसमें सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया था। उस सांस्कृतिक ग्रुप में भी राजपूत को शामिल किया गया था। हालांकि इस दौरान पढ़ाई पर ध्यान न देने के कारण वह पेपर में फ़ैल हो गए थे और पढाई में उनका मन भी नहीं लग रहा था। मगर दूसरी ओर डांस और ड्रामा में उनकी रुची बढती ही जा रही थी। अब सुशांत ने इंजीनियरिंग छोड़ने का फैसला लिया और पूरी तरह से डासिंग और एक्टिंग पर ध्यान देना शुरू कर दिया।

छोटे पर्दे पर सुशांत की अदाकारी और डांस का जलवा

अब एक्टिंग में खुद को आजमाने के लिए सुशांत मुंबई चले आए और *नादिरा बब्बर के ‘एकजुट’ थिएटर* में ढाई साल काम किया। इस दौरान उन्होंने टीवी पर नेस्ले मंच के विज्ञापन में काम किया। वो विज्ञापन पुरे देश में बहुत मशहूर हुआ।

2008 में सुशांत एकजुट थिएटर के ड्रामा में एक्टिंग कर रहे थे तभी ‘बालाजी टेलेफिल्म्स’ की टीम की नजर सुशांत पर पड़ी। बालाजी टेलेफिल्म्स’ ने उन्हें एक्टिंग करते हुए देखा था और सभी उनकी एक्टिंग से काफी प्रभावित हुए।

कुछ दिन बाद ही राजपुत को ऑडिशन के लिए बुलाया गया। *‘किस देश में है मेरा दिल’ शो में प्रीत जुनेजा के किरदार के रूप में सुशांत को ब्रेकथुरु मिला।* इस शो में सुशांत सिंह ने जिस किरदार को निभाया था वह बहुत ही जल्द मर जाता है। सुशांत अपनी अदाकारी से दर्शकों के दिल में बस गए। उनका किरदार लोगो को इतना पसंद आया की उन्हें उस शो के फिनाले में आत्मा के रूप में फिर से बुलाया गया था।

जी.टी.वी. का शो ‘पवित्र रिश्ता’ उनके करियर के लिए मील का पत्थर साबित हुआ। सुशांत सिंह राजपूत ने पवित्र रिश्ता सीरियल में एक बहुत ही समझदार और गंभीर मानव देशमुख का किरदार निभाया था। इस सीरियल में उनकी एक्टिंग को सभी ने सराहा और देखते ही देखते सुशांत छोटे पर्दे के बड़े सितारे बन गए। इस सीरियल में उन्होंने जो किरदार निभाया था उसके लिए उन्हें सर्वश्रेष्ट अभिनेता पुरस्कार दिया गया और साथ ही सबसे मशहूर अभिनेता पुरस्कार से भी सम्म्नानित किया गया। इस सीरियल ने सुशांत को अलग ही मुकाम दिया इसके बाद 2010 में राजपूत *‘जरा नचके दिखा 2’* डांस रियलिटी शो में भी नजर आए। जरा नच के दिखा शो में राजपुत मस्त कलंदर बॉयज टीम में थे। उन्होंने एक साथ “पवित्र रिश्ता” और जरा नचके दिखा 2 के लिए काम किया।

दिसम्बर 2010 में उन्होंने ‘झलक दिखला जा 4’ डांस रियलिटी शो में भी हिस्सा लिया था। उस शो में उन्होंने कोरियोग्राफर शम्पा सोंथालिया के साथ में काम किया था।

सुशांत की लव लाइफ

सुशांत सिंह राजपूत अपनी अदाकारी के साथ-साथ अपनी लव लाइफ को लेकर भी काफी चर्चा में रहें। सुशांत सिंह राजपूत और उनकी प्रेमिका रही टीवी एक्ट्रेस अंकिता लोखंड़े की मुलाकात पवित्र रिश्ता के सेट पर हुई थी। अंकिता मूलरूप से इंदौर की रहने वाली है।

पवित्र रिश्ता के सेट से दोनों के बीच पहले दोस्ती की शुरुआत हुई और फिर धीरे-धीरे दोनों के बीच प्यार परवान चढ़ने लगा। दोनों एक्ट्रर और एक्ट्रेस के बीच लंबा रिलेशनसीप चला। जो शादी के ऐलान तक तो पहुंचा, लेकिन इसके बाद टूट गया। दोनों के रास्ते अलग हो गए और सुशांत सिंह राजपूत बॉलीवुड के सुनहरे सफर में आगे बढ़ गए।

इस बीच कई ऐसे वाक्य आये। जहां सुशांत सिंह राजपूत के साथ रिलेशन में रही अंकिता ने उन पर पब्लिक के सामने ही हाथ छोड दिया। मीड़िया रिपोर्ट्स के मुताबिक 2016 में एक क्लब में सुशांत और अंकिता पार्टी के लिए पहुंचे थे। उस पार्टी में सुशांत ने काफी ज्यादा ड्रिंक कर लिया था। वह अपनी महिला फ्रेंड्स के साथ डांस कर रहे थे। इसी बात से नाराज होकर अंकिता ने सुशांत को कंट्रोल में करने की कोशिश की, लेकिन वह काबू में नहीं आए। बात आगे बढ़ गई। जिसके बाद अंकिता ने सुशांत को थप्पड जड़ दिया था। यह पहला वाक्या नहीं था। जब ऐसा हुआ हो। इससे पहले भी वह सुशांत को थप्पड लगा चुकी थी। अंत में कृति सैनन के साथ सुशांत की बढ़ती नजदीकियों के कारण दोनों का ब्रेकअप हो गया।

सुशांत का शानदार बॉलीवुड करियर

छोटे पर्दे पर बेसुमार सोहरत हासिल करने के बाद अब सुशांत की नजरें बॉलीवुड के बड़े पर्दे पर थी। उन्होंने दिखा दिया कि वह अच्छे अभिनेता ही नहीं एक अच्छे डांसर भी है। उनमें वह सब गुण है जिसकी जरूरत बॉलीवुड में एक अच्छा अभिनेता बनाने के लिए होती है।

अभिषेक कपूर की ‘काई पो चे’ फ़िल्म के साथ 2013 में सुशांत ने बॉलीवुड में कदम रखा। फ़िल्म में सुशांत लीड रोल में नजर आए और उन्हें राजकुमार राव और अमित साध के साथ में काम करने का मौका मिला। चेतन भगत की नावेल 3 मिस्टेक ऑफ़ माय लाइफ पर आधारित इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर काफी अच्छी कमाई की थी।

सुशांत का बॉलीवुड में डेव्यू तो अच्छा था, परंतु फिल्मी बैकग्राउंड न होने के कारण उनके साथ कोई भी अभिनेत्री काम नहीं करना चाहती थी। अपनी दूसरी फिल्म *शुद्ध देसी रोमांस* में सुशांत ने इस चुनौती को भी दूर किया और परिणीती चोप्रा और वाणी कपूर के साथ मुख्य भूमिका में नज़र आए। इस फ़िल्म का निर्देशन मनीष शर्मा ने किया था। फ़िल्म लिव इन रिलेशनशिप पर आधारित थी और इसे राजस्थान के जयपुर में शूट किया गया था।

2014 में राजपूत को राजकुमार हिरानि की फ़िल्म ‘पीके’ में आमिर खान और अनुष्का शर्मा के साथ काम करने का मौका मिला। फ़िल्म में उनका किरदार छोटा था परंतु दर्शकों को उनका रोल बहुत पसंद आया। आमिर खान स्टारडम यह फ़िल्म सुपरहिट साबित हुई थी और फ़िल्म ने बॉक्स ऑफिस पर काफी कमाई की थी।

2015 में सुशांत ने फ़िल्म “डिटेक्टिव ब्योमकेश बक्शी” में मुख्य किरदार निभाया। डायरेक्टर दिबाकर बैनर्जी के अनुसार ब्योमकेश बक्शी के किरदार के लिए उनकी पहली पसंद सुशांत सिंह ही थे।

2016 में महेंद्र सिंह धोनी की बॉयोपिक फ़िल्म ‘‘एम. एस. धोनी: द अनटोल्ड स्टोरी’’ में सुशांत सिंह महेंद्र सिंह धोनी के किरदार में नज़र आए। इस फ़िल्म के लिए सुशांत ने 18 महीनों तक क्रिकेट सीखा। वह धोनी के किरदार में ऐसे रम गए थे कि एक नज़र में दर्शक उन्हें ही महेंद्र सिंह धोनी समझने की भूल कर बैठे। यह फ़िल्म सुशांत सिंह की सबसे शानदार फ़िल्म थी। बॉक्स ऑफिस पर यह फ़िल्म सुपरहिट हुई और 2016 में सबसे अधिक कमाई करनेवाली फ़िल्म में इस फ़िल्म को शामिल किया गया था। इस फ़िल्म में उन्होंने इतना शानदार किरदार निभाया था की उसके लिए उन्हे ‘फिल्मफेयर सर्वश्रेष्ट अभिनेता पुरस्कार’ के लिए नामित भी किया गया था।

जून 2017 में दिनेश विजन की ‘राबता’ फ़िल्म में सुशांत सिंह राजपूत कृति सेनन के साथ नजर आये थे।

इसके अलाव सुशांत केदारनाथ, सोनचिरैया और छिछोरे में भी नजर आए। छिछोरे सुशांत सिंह राजपूत की आखरी मूवी थी। इस फ़िल्म में सुशांत अपने बेटे को सुसाइड से बचाने का प्रयास करते हुए नजर आते है। मगर हैरत की बात है कि रियल लाइफ में सुशांत खुद ही सुसाइड कर लेते है। 2020 में सुशांत की “दिल बेचारा और पानी फिल्म” आने वाली थी।

सुशांत का करियर सातवें आसमान की उचाइयां छू रहा था, अपनी अदाकारी से उन्होंने बॉलीवुड में एक अलग मुकाम हासिल किया था।

मगर बेशुमार कामयाबी के बीच न जाने ऐसा क्या था जो उनके दिल को कचोट रहा था?

आखिर क्या वजह थी जो सुशांत ने सुसाइड कर लिया?

आखिर किस कारण वह डिप्रेशन में थे?

ऐसे बहुतेरे सवाल अपने पीछे छोड़ सुशांत इस दुनिया को अलविदा करके चले गए। कुछ तो उनके मन में चल रहा था, इसका इशारा शायद उन्होंने अपने माँ की याद में लिखे अपने आखरी इंस्टाग्राम पोस्ट में दिया था।

माँ को याद करते हुए सुशांत ने लिखा था “धुंधलाते अतीत को अश्क उड़ा देते हैं, ना खत्म होने वाले सपने मुस्कुराहट लाते रहते हैं और क्षणभंगुर जिंदगी इन दोनों के बीच सौदेबाजी करती रहती है… मां’।

बॉलीवुड का यह चमकता सितारा निराशा और नाउमीदी की गर्दिश में न जाने कहा खो गया।

Anshu Kumar

अंशु वर्तमान समय में दिल्ली स्कूल ऑफ जर्नलिज्म से पत्रकारिता की पढ़ाई कर रहे हैं। साथ ही एक्सप्रेस इंडिया न्यूज में संवाददाता के रूप में कार्यरत हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *